शीघ्र ही बिहार में बंद हो जाएगा मोबाइल नेटवर्क - Technopediasite

.

Friday, July 12, 2019

शीघ्र ही बिहार में बंद हो जाएगा मोबाइल नेटवर्क

शीघ्र ही बिहार में बंद हो जाएगा मोबाइल नेटवर्क: हो सकता है यह बात आप सब को सुनने में अजीब लगे लेकिन पूरी आशा है की बिहार में मोबाइल नेटवर्क शीघ्र ही बंद हो जायेगा,ऐसा बिलकुल नहीं है कि टेलीकॉम कंपनी अपना नेटवर्क बिहार में बंद करने जा रही है लेकिन मोबाइल नेटवर्क बंद होने के दूसरे भी कारण होते हैं!मैं उस खास कारण के बारे में बताऊंगा जिस के कारण बिहार में मोबाइल नेटवर्क बंद रहेगा
किसी खराबी के कारण कोई भी मोबाइल कंपनी अपना नेटवर्क चार घंटे से ज्यादा बंद रखना नहीं चाहती है,परंतु यह ऐसा कारण है की मोबाइल कंपनी चाह कर भी कुछ नहीं कर सकती है और उसका नेटवर्क कुछ लम्बे समय के लिए बंद रह सकता है,बिहार बहुत बुरी तरह प्राकृतिक आपदा की चपेट में आने ही वाला है जिस के कारण बिहार में सभी मोबाइल नेटवर्क बंद हो जायेंगे!
बिहार में भारी वर्षा के कारण बंद रहेगा मोबाइल नेटवर्क
बिहार में प्राकृतिक आपदा के कारण बंद होगा मोबाइल नेटवर्क

बिहार में मोबाइल नेटवर्क बंद होने की वास्तविकता

पिछले चार पांच दिनों से बिहार और उसके आस पास के इलाक़े जैसे उत्तर प्रदेश में बहुत भारी बारिश हो रही है,बिहार और उत्तर प्रदेश के साथ साथ नगालैंड और वेस्ट बंगाल में भी भारी बारिश हो रही है परंतु बिहार सब से ज्यादा प्रभावित होता रहा है और इस बार भी सब से ज्यादा बिहार ही प्रभावित होगा,जमीनी स्तर की रिपोर्ट यह है कि बिहार में भारी बारिश के कारण सैलाब की चपेट में आने वाला है जिस के कारण काफी जान माल का नुकसान होने वाला है!

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बिहार में पिछले चार पांच दिन से भारी बारिश हो रही है जिस के कारण लोगों में काफी डर बना हुआ है,बिहार में जैसे पश्चिमी चम्पारण,पूर्वी चम्पारण,किशन गंज, खगरिया, मधुबनी, दरभंगा, बेगुसराई इत्यादि खास तौर से भरी सैलाब के चपेट में आने की आशंका है!

बिहार और इसके आस पास इलाके में अभी भी बारिश थमने का नाम नहीं ले रही रही है,इसलिए अनुमान जताया जा रहा है कि सैलाब का जल स्तर बहुत ज्यादा होगा और जान माल का काफी नुकसान होने वाला है,इस आपदा के समय में मोबाइल नेटवर्क का बंद होना कोई आश्चर्य की बात नहीं है!

बिहार में ज्यादातर मोबाइल टावर और इक्विपमेंट शेल्टर ज़मीन से केवल चार फुट की ऊंचाई पर है,सैलाब का जल स्तर 6-7 फुट तक बढ़ने की सम्भावना है जिस के कारण ज्यादातर मोबाइल टावर और इक्विपमेंट शेल्टर पानी में डूबे रहेंगे इसी कारण बिहार में मोबाइल नेटवर्क बंद हो जाएगा!

बिहार में मोबाइल कंपनी अपना ऑप्टिकल फाइबर नेटवर्क बहुत कम गहरायी पर बिछायी है,ऑप्टिकल फाइबर नेटवर्क की गहरायी सामान्य मिट्टी में कम से कम 1.5 मीटर तक की होनी चाहिए परन्तु ऐसा नहीं है,इसलिए पानी के तेज़ बहाव के कारण ऑप्टिकल फाइबर नेटवर्क भी बुरी तरह प्रभावित होने की आशंका जताई जा रही है!

मैं आप को बता देना चाहता हूँ की केवल बिहार में ही 20 से अधिक नदियां है,अभी सभी नदियां अपने उफान पर बह रही है,मौसम विभाग ने भी बिहार के लोगों को सतर्क रहने के लिए चेतवनी दे दिया है,खासतौर से बिहार में खतरे का बहुत बड़ा संकेत है,बिहार के लोग भी काफी भयभीत हैं और खौफ का माहौल बना हुआ है!

अनुमान लगाया जा रहा है कि दो से तीन दिन के भीतर बिहार से मोबाइल संपर्क टूट जायेगा और आवा गमन भी बंद हो जायेगा,भारी सैलाब के कारण मोबाइल नेटवर्क तो बंद हो ही जायेगा लेकिन इसके साथ साथ रोड भी टूट जाएगा जिससे कहीं आना जाना भी बंद हो जायेगा! कुछ इलाक़े में मोबाइल इक्विपमेंट शेल्टर पर काफ़ी ख़तरा है जो तेज़ पानी के बहाव के कारण टूट के गिर सकता है!

परिवहन प्रभावित होने से मोबाइल नेटवर्क भी प्रभावित होगा

बिहार, उत्तर प्रदेश, मेघालय, सिक्किम, उत्तराखंड, पश्चिम बंगाल इत्यादि इलाके में भारी वर्षा के कारण जन जीवन काफी प्रभावित हुआ और अब भारी सैलाब के कारण जन जीवन को काफी खतरा भी है, दो से तीन दिन के भीतर बिहार के तराई इलाके में त्राहि त्राहि का माहौल होगा,इस प्राकर्तिक आपदा में कितनी जान माल का नुक़सान होगा अभी से यह कहना ठीक नहीं है लेकिन भारी वर्षा को देखते हुए कुछ बुरा होने का ही अनुमान लगाया जा सकता है,अब भी वर्षा रुकने का नाम नहीं ले रहा है और आज 6 दिन से 24 घंटे वर्षा हो रही है!

बिहार में नए सड़क तो बन गए हैं लेकिन अभी भी कई इलाके हैं जहाँ रोड ही नहीं है,जो नयी सड़क बनी है उसकी हालत इतनी अच्छी है कि 2 महीने में ही सड़क टूटने लगती है और सड़क पर फिर गड्ढा और खायी बाक़ी रह जाता है, 2016-17 में भारी सैलाब के कारण जो सड़क टूट गयी थी उसका आज तक मरम्मत नहीं हो पाई है!

अब आप अंदाज़ा लगा सकते है की इतनी भारी वर्षा और इसके बाद आने वाला भारी सैलाब में सड़क की क्या स्तिथि रहेगी?सैलाब में पानी के तेज़ बहाव के साथ साथ यह सड़क भी किसी नदी नाले में ही चला जायेगा और बिहार के अधिकतर इलाके में परिवहन संचार बंद हो जायेगा!

जो मोबाइल टावर और इक्विपमेंट शेल्टर जल स्तर से ऊपर होंगे वह भी बंद रहेंगे क्यूंकि जब परिवहन संचार बंद हो जायेगा तो उस सेल साइट पर डीजल भरने या मेंटेनेंस का काम नहीं हो पायेगा जिस के कारण मोबाइल नेटवर्क का बंद रहना तय है! ऐसी परस्तिथि में कोई कुछ नहीं कर सकता है लेकिन मोबाइल कंपनी को अपने कुछ मेंटेनेंस इंजीनियरों को नौकरी से निकालने का बहाना भी मिल जायेगा, इंजीनियर सेल साइट पर नहीं पहुंचने का कारण नौकरी से निकाला जा रहा है!

बिहार में भारी वर्षा के कारण मोबाइल नेटवर्क, परिवहन संचार और जन जीवन काफी प्रभावित होने वाला है,हजारों गाँव सैलाब की चपेट में आने का अनुमान लगाया जा रहा है जिससे लाखों लोगों के जान व माल का खतरा है,बिहार सरकार को चाहिए कि इस आपदा से निपटने के लिए कोई ठोस क़दम उठाये,केवल दो से तीन दिन के भीतर ही मोबाइल नेटवर्क और परिवहन संचार बिहार में बंद हो जायेगा और दुर्भाग्य की बात यह है की इसका कोई उपाय नहीं है!

बिहार वाशी सतर्क रहे अपनी हिफाज़त खुद करें,आप सब के लिए हेलीकाप्टर से खाना पानी फेंका जायेगा, आपदा के बाद आप सब की बर्बादी के लिए  6000 रुपये की राशि भी मिल जाएगी जिसे पा कर आप काफी खुश हो जायेंगे और जीवन खुशहाल हो जायेगा, मोबाइल नेटवर्क, परिवहन संचार और नदी के जल को रोकने के उपाय से आप सब को क्या लेना देना है,जय श्री राम और अल्लाह हुअक्बर बोल कर सैलाब में हवाले हो जाना है....!!!!!

No comments:

Post a Comment